गौ विश्वस्ये मातरम

Posted on Posted in Uncategorized

गौ विश्वस्य मातरम
गौ न केवल हम सनातन धर्म की अपितु सम्पूर्ण विश्व
की माता है ऐसा गौ धेनु मनास में कहा गया है ये
सत्य भी है क्यों हमे जन्म देनी वाली माँ भले
ही केवल हमारा भरण पोषण करती है पर
गौ कभी ऐसा नहीं करती वो अपने दूध से
सभी का भरण पोषण करती है। गौ जिस घर में
रहती है कहा गया है वहा शुद्ध वातावरण
हो जाता है एक प्रकार की सकारात्मक
ऊर्जा निर्माण होती है ,गौ मूत्र ,गौ गोबर से
ईश्वर प्रसन्न होते है ये भी सर्वशुर्त है। पर आज
क्या हो रहा है गौ माता के साथ जिस धर्म में उसे
३३ कोटि का वास होने वाली माँ कहा है
उसी धर्म के लोग आज चंद रुपयो के लिए गौ को बेच
रहे है ,और कुछ लोग केवल अपने मुँह के चोचले पुरे करने
गौ हत्या कर रहे है। गौ किसी धर्म के हिसाब से दूध
नहीं देती उसके लिए सभी धर्म एक ही है पर बड़े शर्म
की बात है आज देश में एक धर्म को लज्जित करने
दूसरा धर्म गौ हत्या कर रहा है , २ ,२ हजार में
गौ वंश का नाश हो रहा है , सरेआम
गौ हत्या की जा रही है।
गौ हत्या गौ की हत्या नहीं इंसानियत
की हत्या होती है जो गौ हत्या में सहभाग
भी लेता है वो भी सम्पूर्ण इंसानियत का दोषी है।
गौ दूध से
जितना फायदा है ,शारीरिक ,मानसिक ,आर्थिक
उतना फायदा गौ हत्या में नहीं है ये बड़ी बात
कोई नहीं समझना चाहता।
गौ हत्या रोकने में हम सब सहभाग ले सकते है जैसे कुछ
बाते है जो हम आसानी से कर सकते है जैसे १) गौ दूध
की डिमांड बढ़ाना ,जैसे आर्टिफीसियल
(मिलावटी ) दूध के बजाये अगर हम गौ दूध की मांग
करे
२) खेती में अगर हम गोबर ,गौमूत्र से बने खाद
का उपयोग करे ,वैसे भी फर्टिलिज़ेर्स आज ज़हर बन रहे
है ,और गोबर गौमूत्र प्राकृतिक रूप से
खेती को फायदा ही पोहचाती है।
३) चमड़े से बने चीजो का पूर्ण तह त्याग करे ,मैं
कभी भी चमड़े से बानी कोई चीज का इस्तमाल
नहीं करती और मुझे चमड़े से ज्यादा अच्छी चीजे
मार्केट में मिल जाती है ,चमडे का कोई भी सामान
जैसे चमड़े के कपडे , जूते ,बेल्ट ,पर्स जब आप ख़रीदे तो एक
बार वो कैसे बना है जरूर सोचे के इस चमड़े के पीछे एक
जीव की हत्या हुई है फिर अगर
थोड़ी भी इंसानियत बची हो तो वो न ख़रीदे ,हम
जितना चमड़े के सामानो का त्याग करेंगे उतना एक
जीव बचेगा ये सोचे
४) एक और अहम बात उन लोगो के लिए जो गौ मॉस
कहते है या किसी भी अन्य प्राणी की हत्या करके
उसे खाते है उन सभी के लिए है एक बार उस जीव
की आँखों में देखे जिनकी आप हत्या करके उसे खा रहे
है। मांसाहार से कई ज्यादा पौष्टिक और
स्वादिष्ट शाकाहार भोजन है ,और दूसरी बात
आपको किसने ये अधिकार दिया के आप
किसी जीव की हत्या कर उसे खा सकते है ?
गौ मांस जो खाते है उन्हें ऐसा न करने आप प्रेरित कर
सकते है। हिन्दू या सनातनी जहा तक हो गौ मांस
नहीं खाते पर जो ऐसा करते है आप उन्हें प्रेरित कर
सकते है ऐसा न करने
५) हमेशा आर्थिक लाभ देखने के बजाये
थोड़ा प्राकृतिक लाभ ,धार्मिक लाभ ,स्वास्थ
लाभ , इंसानियत लाभ भी सोचे।
अगर आपको कही भी गौ पर
या किसी भी निष्पाप जीव पर अत्याचार होते
दिखे तो तुरंत पुलिस में
जानकारी दे ,या गौ रक्षा दल,हिन्दू सेना जो हर
शहर गाव में होती है उनसे संपर्क करे ,उसके लिए
आपको एक कदम उठाना है ऐसे कांटेक्ट नंबर अपने
मोबाइल में सेव करके रखना है।
गौ को माँ कहते हो न तो इतना तो कर सकते हो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *