जैविक खेती का एक आसान तरीका.

Posted on Posted in Uncategorized
जैविक खेती का एक आसान तरीका.
जैविक खाद ( एक एकड़
खेत के लिए )
# एक ड्रम में नीचे लिखी पाँच चीजों को आपस में मिला लें.

१. १५ किलो गोबर (
गाय का, बैल का,  )
२. १५ लीटर मूत्र (
गाय का, बैल का,  )
३. १ किलो गुड़ (
कैसा भी चलेगा, जो सड़ गया हो आपके उपयोग का ना हो तो ज्यादा अच्छा )
४. १ किलो पिसी हुई
दाल या चोकर (कैसा भी चलेगा, आपके उपयोग का ना हो तो ज्यादा अच्छा )
५. १ किलो मिट्टी (
किसी भी पुराने पेड़ के नीचे की पीपल, बरगद …. )
# अब इसे १५ दिन तक छाँव में रखो, और रोज सुबह शाम एक बार इसे मिला दो.
# १५ दिन बाद इसमें २०० लीटर पानी मिला दो, अब आपकी खाद तैयार
हो गयी जो एक एकड़ खेत के लिए काफी है.
# इस जैविक खाद को हर २१ दिन के बाद खेत में डाल सकते है.
# अगर खेत खाली है तो सीधे खेत में इसे छिड़क दें. और अगर फ़सल
खड़ी है तो पानी के साथ पटा दें !
# यह जैविक खाद आपके रासायनिक खाद ( यूरिया … ) से ६ गुना
ज्यादा ताकतवर है !
# इस जैविक खाद की कोई एक्सपायरी डेट नहीं होती है !
# इस जैविक खाद को इस्तेमाल करने से खेत को पानी की कम जरुरत
पड़ती है !
जैविक जंतु नाशक (
एक एकड़ खेत के लिए )
# जिस खेत में यूरिया, डी ए पी आदि डाला जाता है, कीट उसी खेत में
जाते हैं, आप जितना ज्यादा
यूरिया, डी ए पी डालोगे
कीट उतने ज्यादा आएंगे, इसलिए सबसे पहले रासायनिक खाद डालना बंद करें खेत में कीट आना
कम होते जायेगा !
# एक ड्रम में नीचे लिखी चीजों को मिला कर उबालें !
१. २० लीटर मूत्र (
गाय का, बैल का,  )
२. २.५ किलो नीम के
पत्ते या निम्बोली पिस कर मिलाएं !
३. २.५ किलो सीताफल
के पत्ते पिस कर मिलाएं !
४. २.५ किलो आकड़ा (
आक, अकौवा, अर्क मदार ) के
पत्ते को पिस कर मिलाएं !
५. २.५ किलो धतुरे
के पत्ते को पिस कर मिलाएं !
६. २.५ किलो बेल
पत्र के पत्ते को पिस कर मिलाएं !
# इस घोल को खूब उबालें, उबालते समय इसमें करीब ०.५ किलो तम्बाकू
का पाउडर मिला दें!
# खूब उबल जाये तो इसे ठंढा करके छान लें !
# अब इसे बोतल में या किसी और बर्तन में रख लें !
# अब जब भी इसका इस्तेमाल करना हो तो इसमें २० गुना पानी मिला कर
छिड़के !
# छिड़कने के ३ दिन के अंदर सभी कीट मर जायेंगे !
बीज संस्कारित करने
का तरीका ( १ किलो बीज के लिए )
# एक ड्रम में नीचे लिखी चीजों को मिलाएं !
१. १ किलो गोबर (
गाय का, बैल का,  )
२. १ लीटर मूत्र (
गाय का, बैल का  )
# अब इसमें १०० ग्राम कलई चूना मिलाना है, उसका तरीका है !
३. १०० ग्राम कलई
चूना को २ से ३ लीटर पानी में डालकर रात भर छोड़ दें ! सुबह में जब चूना फूल जाये
तो चूना और उसके पानी को घोल लें !
# अब ड्रम में जिसमें गोबर और मूत्र मिला हुआ है उसमें ये चुने का
घोल मिला दें और इसे अच्छे से घोलें !
# अब कोई भी बीज जिसको संस्कारित करना हो उसे इस घोल में मिला कर
रात भर ( ३ से ६ घंटे ) छोड़ दें !
# सुबह में बीज को घोल से निकाल लीजिए, और इसे छाँव में
सुखा लीजिए !
# अब आपका बीज तैयार है इसे खेत में लगा दीजिए !
# इस संस्कारित बीज से आपको उत्पादन ज्यादा मिलेगा !
# और इस संस्कारित बीज पर कीट आसानी से नहीं लगेगा !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *