गौ माता करे सभी रोगों की छुट्टी

Posted on Posted in Uncategorized
                               !! गौ कथा गौ माता करे सभी रोगों की
छुट्टी !!      
गौमाता
का जीवन उपयोगी शास्त्र संमत और विज्ञान संमत कुछ बाते अवस्य पढ़े.
१.
अगर कोई नव विवाहित पति पत्नी को संतान नहीं हो। तो वो भारतीय नसल की गौ माता को
घर पे लाये पुरुष और स्त्री एक साल तक गौ माता का दूध पीए और पुरुष गौ माता के गल
कम्मल पे रोज अपना हाथ फेरे उससे पुरुष मैं शुक्राणु का निर्माण हो जाता हैं। और
स्त्री रोज पूजा के बाद भारतीय नसल की बैल के मूत्र को रोज थोड़ी देर तक सिर्फ
सूंघे तो उसका बांज पाना दूर हो जाता हैं। और अगर कोई स्त्री एक महीने तक सिर्फ गौ
माता के दूध से बनी हुई खीर को पीए तो उसकी कोख इतनी पवित्र हो जाती हैं की उसकी
कोख मैं श्री राम जैसा पुत्र हो होता हैं इस बात का प्रमाण हैं राम चरित मानस मैं
पुत्र कामेश्ठी यज्ञं मैं लिखा हुआ हैं।
२.
अगर कोई माता की नोर्मल डिलीवरी न हो और उसको ऑपरेशन करने की कोई डॉक्टर सलाह दे
तो ये बात अवश्य पढ़े :
एक
माता की बहु को बच्चा होने वाला था। डॉक्टर ने कहा ऑपरेशन करना पड़ेगा। वो माता ने
गौ कथा सुनी हुई थी। उस माता ने गौमाता के गोबर का रस निकालके उसकी बहु को पिला
दिया। १० मिनट मैं उसकी बहु को बच्चा हो गया।
३.
हम अगर हमारा बच्चा ५ दिन को हो तबसे लेकर ५ वर्ष को हो तब तक यदि उसे गौमाता का
गौ मूत्र पिलाये तो उस बच्चे को जीवन भर रोग नहीं होता। उसका प्रमाण श्रीमद भागवत
महापुराण मैं कृष्ण जनम के समय जब श्रीकृष्ण ५ दिन के थे  तब पूतना आई थी , पूतना वध के बाद कृष्ण को गौ मूत्र
पिलाया था। कृष्ण को कभी कोई रोग हुआ नहीं। विज्ञान का भी प्रमाण हैं की गौ मूत्र
अगर कोई व्यक्ति रोज पीए तो उसे कभी कोई रोग होता नहीं।
४.
अगर आप चाहे ही आपका बच्चा जीवन मैं कभी शराब , दारू को हाथ लगाये नहीं तो आप का बच्चा
५ वर्ष का हो तब से १० वर्ष तक गौ मूत्र पिलाओ। इसका प्रमाण ये हैं की परम पूज्य
गौ क्रांति अग्रदूत गोपाल मणि जी महाराज ने अपने पुत्र पूज्य सीता शरण जी को ये
उपाय किया हैं अभी कोई व्यक्ति पूज्य सीता शरण जी के सामने दारू या सिगरेट पीए तो
उनको उलटी हो जाती हैं।
५.
यदि आपके बच्चे को चश्मा का नंबर आ गए हैं तो उसके नाक मैं भारतीय गौमाता का घी
बच्चे का नाक मैं डालना। धीरे धीरे उसके आँख का नंबर कम हो जायेगा और नंबर चला भी
जायेगा। ये उपाय बड़ी उम्र के व्यक्ति भी कर सकते हैं।
६.
यदि आपका बच्चा पढने मैं कमजोर हो तो भारतीय गौमाता का घी उसके पैरो मैं रोज कुछ
मिनट कांसे के बरतन में रख कर लगाये कुछ समय बाद उसमे चमतकारी बदलाव आने लगंगे।
एक
माता का बच्चा मंद बुद्धि का था वो माता ने ये उपाय किया तो कुछ महीने मैं उसका
बच्चा सामान्य हो गया।
एक
बच्ची पढने मैं कमजोर थी उसने ये उपाय किया तो पुरे राज्य मैं यूनिवर्सिटी मैं
प्रथम आई।

बोलो
गौ माता की जय। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *