इन दैनिक कार्यों में संजीवनी है गाय का गोबर!

Posted on Posted in Uncategorized

इन दैनिक कार्यों में संजीवनी है गाय का गोबर!

गोवर का दैनिक जीवन में उपयोग:
  1. गोमय से बनी धूप को जलाने से वातावरण पवित्र, सुन्दर तथा शांतिपूर्ण होता है| इन्हें जलाना तकरीबन हवन करने के समान है| न केवल इतना ही, गोमय का धुआं घातक पराबैंगनी विकिरण (ultraviolet rays) को सोख लेता है जिससे आप सुरक्षित रहते हैं| आदि काल से भारत के ग्रामीण क्षेत्रों में घर के फर्श और दीवारों को गोबर से पोतने की परंपरा रही है| इस परम्परा ने हजारों वर्षों से समाज की पराबैंगनी विकिरण तथा कीड़े मकोड़ों से रक्षा की है|
  2. अस्थमा के रोगियों को गोमय का रस यदि नाक से दो बूँद करके दिया जाए तो उनकी स्थिति में आश्चर्यजनक सुधार होता है|
  3. नकसीर फूटने पर केवल गोवर की गंध सूंघ लेने मात्र से ही खून बहना बंद हो जाता है|
  4. गोमय में Vit B12 भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो अन्य पोषक तत्त्वों को शरीर में पचाने के लिए अत्यावश्यक होता है|
  5. अतिसार या Diarrohea हो जाने पर गोमय के रस को पिलाने से बहुत आराम मिलता है|
  6. गोमय की राख से बना मंजन सभी तरह के दन्त रोगों से आपका बचाव कर दांतों और मसूड़ों को मजबूत करता है| आयुर्वेद में वर्णित सभी प्रकार के मंजनों में गोमय से बना मंजन सर्वश्रेष्ठ माना गया है|
  7. गोमय सबसे सस्ता और सुलभ कीटाणु नाशक है|
  1. जिन माताओं को बच्चे की delivery में अतिकष्ट हो, उन्हें गोमय रस देने से delivery सुगमतापूर्वक हो जाती है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *