गौहत्या रोकने के आदर्श ऐवम व्यवहारु उपाय
० गौमाता के गुणो बारे में संपूर्ण जानकारी समाज प्राप्त करवाना ताकी गौमाता का सन्मान बढे.
१ गौसंवर्धन & एम्ब्र्यो ट्रान्सफर (दूध उत्पादन बढ़ावा )
२ चारागाह (गौचर )का विकास & दूध बढ़ाने वाली ऐवम गुण बढ़ाने वाली आयुर्वेदिक औषधि को बढ़ावा .
३ जलसंचय को बढ़ावा
४ गोबर (बायो ) गैस प्लांट्स & आर्गेनिक खेती
५ पंचगव्य & गौमूत्र औषधि द्वारा सर्व भयानक बीमारी को मिटाना
६ गोबर & गौमूत्र द्वारा कास्मेटिक & डोमेस्टिक प्रोडक्ट को बढ़ावा देकर रोजगारी निर्माण.
७ अग्निहोत्र का चिकित्सा & खेती में उपयोग .
८ बैल का खेती के इलावा जनरेटर, वाटर टरबाइन पंप ,आटा चक्की जैसे कई नए उपयोग .
९ अमूल जैसी डेरी उद्योग को सीधे रस्ते पे लाना.
१० मंदिर को दान बंध कर के ऊपर के उपायो के लिए दान कर के गौमाता को आत्म निर्भर बनाना.
११ गौमाता के दूध & गौमूत्र के ज्यादा दाम प्राप्त हो. समजदार हिंदुस्तानी नागरिक पुरे देश में यह उपाय फैलाकर इस रास्ते पे चल कर गौहत्या बंध करवा सकता है.
प्लीज सारे दोस्तों ऐवम ग्रुप में यह बात फैलाओ.
जय हो गौ मैया की .

जैसे दूध में घी होता है पर वो निकालने के लिए पहले
उसको दही बनाओ बाद में
मक्खन फिर गर्म करने से घी निकलता है.
जैसे तिल में से तेल निकलता है .बाजरा में से नहीं .
ऐसे ही
गौहत्या कानून से या हथियार से या नारा लगाने से बंध नहीं होगी.
ऊपर बताये गए सुजाव पर काम करने से १००% रिजल्ट मिलेगा.गौहत्या के लिए जाने अनजाने में हिन्दू ही जिम्मेदार है.गौमाता के गुणों को जान कर उसका फायदा उठाकर गौमाता और हिंदुस्तान को सुखी बनाओ.
आपका प्यारा मित्र 
गोवत्स राधेश्याम रावोरिया 

join us www.gokranti.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *