इस्लाम और गाय

Posted on Posted in Uncategorized

इस्लाम और गाय

देश मे विद्वेषपूर्ण और भ्रामक प्रचार किया जा रहा है की इस्लाम गौ वध की इज़ाजत देता है
निम्न उदाहरणों से यह स्पष्ट हो जाता है की इस्लाम और उसके पैगम्बर तथा प्रतिष्ठित नेता गाय को सदा आदर की द्रष्टी से देखते आये है
गाय का दूध और घी तुम्हारी तंदुरस्ती के लिए बहुत जरुरी है| उसका गोस्त नुकसानदेह एवम बीमारी पैदा करता है
“नुसरत हदो”
बिला सक तुम्हारे लिए चौपायों मे भी सीख है| पेट मे से गोबर और खून के बीच मे से साफ़ दूध जो पीने वालों के लिए स्वाद वाला है
“कुरान सरीफ़ १६-६६”
मुसलमानों को गाय को नहीं मारना चाहिए ऐसा करना हदीस के खिलाफ़ है|
“मौलाना हयात साहब खानखाना हाली समद साहब”
मौलाना फारुखी लिखित “काहिर व बरकत” से पता चलता है की सरीफ़ मक्का ने भी गौ हत्या पर पाबन्दी लगवायी थी|
भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के प्रसिद्ध सेनानी हाकिम अजमल खान का कहना है| ना तो कुरान और ना अरब की प्रथा गाय की कुर्बानी की इज़ाजत देती है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *