(31) गौ चिकित्सा-घाव-फोड़ा,फुन्सी के कीड़े ।

गौ चिकित्सा-घाव-फोड़ा,फुन्सी के कीड़े । १ – सूजन (Swelling ) ================ प्राय: पशु के शरीर के किसी अंग मे चोट लग जाने ,गन्दा मादा एकत्रित हो जाने अथवा फोड़ा- फुन्सी आदि उठने, घाव पक जाने या सर्दी आदि कारणों से प्रभाव से सूजन उत्पन्न हो जाती है । जिस स्थान पर सूजन होती हैं ,पशु के शरीर का वह स्थान उभरा हुआ- सा दिखाई देता हैं । उसमे दर्द होता हैं और दबाने से कडापन महसुस होता हैं । स्पर्श करने से वह स्थान गरम भी प्रतीत होता हैं । पशु सूजन के कारण बेचैन रहता हैं तथा कभी- कभी उसे बुखार भी हो जाता है । यदि सूजन की उत्पत्ति का कारण चोट लगना… Read More

Continue Reading

Cow Protection in India

7 Mothers The foremost name for the cow in India is Gomata or Mother Cow. The wise men in ancient India considered that the human being has seven mothers; the mother who gave us birth – MOTHER, the midwife – DHAYMATA, the wife of the King – RAJMATA, the wife of a priest – DEVMATA, the wife of our teacher – GURUMATA, the Earth – DHATRIMATA, and the cow – GOMATA. Most human beings come in contact with the above seven mothers during the course of life and benefit greatly from them. Therefore, Indian culture requires that these seven mothers always be given respect and protection. You would not kill… Read More

Continue Reading

गौहत्या रोकने के आदर्श ऐवम व्यवहारु उपाय

गौहत्या रोकने के आदर्श ऐवम व्यवहारु उपाय ० गौमाता के गुणो बारे में संपूर्ण जानकारी समाज प्राप्त करवाना ताकी गौमाता का सन्मान बढे. १ गौसंवर्धन & एम्ब्र्यो ट्रान्सफर (दूध उत्पादन बढ़ावा ) २ चारागाह (गौचर )का विकास & दूध बढ़ाने वाली ऐवम गुण बढ़ाने वाली आयुर्वेदिक औषधि को बढ़ावा . ३ जलसंचय को बढ़ावा ४ गोबर (बायो ) गैस प्लांट्स & आर्गेनिक खेती ५ पंचगव्य & गौमूत्र औषधि द्वारा सर्व भयानक बीमारी को मिटाना ६ गोबर & गौमूत्र द्वारा कास्मेटिक & डोमेस्टिक प्रोडक्ट को बढ़ावा देकर रोजगारी निर्माण. ७ अग्निहोत्र का चिकित्सा & खेती में उपयोग . ८ बैल का खेती के इलावा जनरेटर, वाटर टरबाइन पंप ,आटा चक्की जैसे… Read More

Continue Reading

** ‎गौहत्या‬ रोकने का उपाय नंबर १० ##

** ‎गौहत्या‬ रोकने का उपाय नंबर १० ##फालतू धार्मिक खर्च -दान (मंदिर )को बंध करके गौमाता के गुणों का प्रचार एवं गौहत्या रोकने के सही तरीको पर काम कर गौमाता का सन्मान और देश समृद्ध बनाना ##‪#‎हमारे‬ धर्म में लिखा गया है की (धर्म -अर्थ-काम-मोक्ष) यह सब हमारे धर्म के चार स्तम्भ है और यह सब गौमाता में मोजूद है.‪#‎गौमाता‬ की सेवा से ३३ कोटि देवी-देवता प्रसन रहते है.कोई मंदिर या तीर्थ जाने की जरूर नहीं है.सिर्फ गौसेवा .‪#‎इस‬ के दूध ,गौमूत्र,गोबर बहुत उपयोगी है.इसका सही इस्तमाल आरोग्य-धन देता है # गौसेवा से हमारे वंश की निरंतर वृद्धि होती है.## गौसेवा से सात्विक बुद्धि से गौलोक में स्थान मिलता है ##हमारे धर्म में लिखा है की… Read More

Continue Reading

***गौहत्या रोकने के उपाय नंबर ९ *****

***गौहत्या रोकने के उपाय नंबर ९ *******AMUL जैसी डेरी उद्योग को सही रस्ते पर लाना **‪#‎क्या‬ आप जानते हो की गौहत्या और डायबिटिक,हार्ट,कैंसर जैसी बीमारिया अमूल डेरी की वजह से बढ़ी है.#पहले हमारा देश गौपालक था.लेकिन अमूल ने उसको बादमे पशुपालक (भेंस)और बाद में सुवरपालक (HF ,जर्सी जैसे विदेशी सुवर के जीन्स वाले जनावर देश को बर्बाद करने लाये) बनाया .source .govt of gujarat .#१९८७-२००७ के २० साल में न्यूज़ीलैंड के डेरी साइंटिस्ट keith woodford ने रिसर्च में प्रूव किया था की विदेशी जनावर में BCM -७ नामक ज़हर है जो रोगप्रतिकारक शक्ति को खत्म करता रहता है.और देश के गर्म और नमी युक्त वातावरण मे यह टी.बी.और जेडी बुसोलोसिस बिमारी… Read More

Continue Reading

***गौहत्या रोकने का उपाय नंबर ८ ***

***गौहत्या रोकने का उपाय नंबर ८ ***बैल संचालित जनरेटर,वाटर टरबाइन पंप,आटा चक्की,तेल निकालने का कोल्हू ,गियर वाला हाई स्पीड बैल गाड़ी जैसे अनेक विविध प्रयोगदोस्तों आज ज्यादातर किशान बैल रखने को तैयार नहीं है क्यों की खेतीबाड़ी में साल में १महिने से ज्यादा उपयोगिता नहीं होती और बैठे बैठे खिलाना पड़ता है.*पर इसकी शारीरिक ताकत को अन्य उपयोग जैसे की इलेक्ट्रिसिटी की पीक डिमांड के टाइम पुरे हिंदुस्तान के बेलो को जनरेटर और पॉवरग्रिड के साथ जोड़ दिया जय तो १ बैल दिन की २५-३० यूनिट इलेक्ट्रिसिटी पैदा करने की ताकत रखता है.हिदुस्तान में तो करोडो है.उनके गोबर को गैस बनाकर भी इलेक्ट्रिसिटी पैदा की जा सकती है.और गोबर की… Read More

Continue Reading

*** गौहत्या रोकने के उपाय नंबर ७ ***

*** गौहत्या रोकने के उपाय नंबर ७ ***** अग्निहोत्र का चिकित्सा ऐवम खेती में उपयोग.**क्या आप जानते हो की सूखे गोबर के कंडे जापान कंटेनर भर भर के राजस्थान से मंगवा रहा है.क्यों की उधर वातावरण बहुत प्रदूषित हो गया है.जर्मनी और अन्य देश भी इसपर बहुत रिसर्च कर रहे है.अग्निहोत्र वातावरण (हवा पानी )शुद्धिकरण के साथ एटॉमिक रेडिएशन की असर को कम करता है.बरसात लाने मे भी सहायक है.यह विज्ञानिको ने सिद्ध किया है. ***अग्निहोत्र में सूर्योदय ऐवम सूर्यास्त के समय मिटटी या तांबे के पिरामिड जैसे बर्तन में गोबर के कंडे के साथ हवन सामग्री और अक्षत चावल को गाय के घी में भिगो कर मंत्रोच्चार के साथ… Read More

Continue Reading

***गौहत्या रोकने के उपाय नंबर ६ ***

***गौहत्या रोकने के उपाय नंबर ६ *****गोबर और गौमूत्र के द्वारा कॉस्मेटिक & डोमेस्टिक प्रोडक्ट से रोजगारी निर्माण और गौ स्वावलम्बन से समृद्ध हिंदुस्तान का निर्माण **क्या आप जानते हो की गौमूत्र से बना फिनायल (पोछे के लिए लिक्विड )वर्ल्ड बेस्ट फिनायल है क्यों की गौमूत्र वर्ल्ड बेस्ट एंटीसेप्टिक ,एंटीबैक्टीरियल,एंटीवायरल है.*इनसे टूथपेस्ट ,शैम्पू ,अगरबत्ती ,हैंडवॉश,हेयर आयल,साबुन ,जैसे अनेक प्रोडक्ट बनती है.और सब से बेस्ट है. **केमिकल युक्त मच्छर अगरबत्ती से २० सिगरेट जितना खतरनाक धुँआ निकलता है.पर गोबर और नीम से बनी अगरबत्ती संपूर्ण निर्दोष होती है.और १००% रिजल्ट है *और गोबर से बनी अगरबत्ती से वातावरण में पॉजिटिव ऊर्जा फैलती है और देवी-देवता भी प्रस्सन रहते है.*यह सब प्रोडक्ट… Read More

Continue Reading

**गौहत्या रोकने का उपाय नंबर ५ **

**गौहत्या रोकने का उपाय नंबर ५ ***पंचगव्य और गौमूत्र से भयंकर रोगो से मुक्ति.*भगवन श्री कृष्ण ने गीता में कहा है की कौन सा शारीरिक या मानसिक रोग है जो पंचगव्य से नहीं मिटता .अरे इससे तो आदमी के पापो का भी नाश होता है और सात्विक बुद्धि बढ़ती है.भगवान को युही सबसे प्यारी गौमाता नहीं थी.आप जानते हो की गाय के दूध+ दही + घी+ गौमूत्र + गोबर के सब के अपने अलग गुण होते है.अगर इनसब को मिला कर पंचगव्य बनाया जाये तो कितना शक्तिशाली औषध बनेगा.इनसे बना पंचगव्य घृत & महापंचगव्य घृत कैंसर,(एड्स )जैसे अनेक बीमारी में उपयोगी है.पंचगव्य के बहुत सारे सेंटर पुरे देश में खुल… Read More

Continue Reading