25 INTERESTING QUALITIES OF COW’S URINE

25 INTERESTING QUALITIES OF COW’S URINE  According to the Hindu religion granth (texts), there is Laxmi in Cow’s dung and Ganga in urine, while in Ayurveda cow’s urine has so many uses.  After chemical analysis of cow’s urine, scientists have found that it has 24 such elements, which are capable in curing different diseases of the body.  According to Ayurveda, regular intake of cow’s urine can cure many ailments. People who takes cow’s urine’s small quantity regularly, increase their immunity power.  It keeps away the diseases which occur due to changes in weather.  Body becomes healthy and energetic.  It has found the following qualities :  Cow’s urine is hard, bitter, sharp and… Read More

Continue Reading

गौमाता में हैं समस्त तीर्थ

गाय, गोपाल, गीता, गायत्री तथा गंगा धर्मप्राण भारत के प्राण हैं, आधार हैं। इनमें मैं गौमाता को सर्वोपरि महत्व है। पूजनीय गौमाता हमारी ऐसी माँ है जिसकी बराबरी न कोई देवी-देवता कर सकता है और न कोई तीर्थ। गौमाता के दर्शन मात्र से ऐसा पुण्य प्राप्त होता है जो बड़े-बड़े यज्ञ दान आदि कर्मों से भी नहीं प्राप्त हो सकता।  जिस गौमाता को स्वयं भगवान कृष्ण नंगे पाँव जंगल-जंगल चराते फिरे हों और जिन्होंने अपना नाम ही गोपाल रख लिया हो, उसकी रक्षा के लिए उन्होंने गोकुल में अवतार लिया। शास्त्रों में कहा है सब योनियों में मनुष्य योनी श्रेष्ठ है। यह इसलिए कहा है कि वह गौमाता की निर्मल… Read More

Continue Reading

गौ सेवा की महिमा विष्णुधमोर्तरपुराणमे

 सेवा की महिमा विष्णुधमोर्तरपुराणमे विपत्ति  मे या कीचड मे फॅसी हुई या चोर तथा बाघ आदि के भय से व्याकुल गौ को क्लेश से मुक्त कर मनुष्य  अवमेधयज्ञ का फल प्राप्त करता है रुग्णावस्था मे गौओ को औषधि प्रदान करने से स्वंय मनुष्य  सभी रोगो से मुक्त हो जाता है गौओ को भय से मुक्त कर देनेपर मनुष्य  स्वय भी सभी भयो से मुक्त हो जाता हे चण्डाल के हाथ से गौको खरीद लेनेपर गोमेधयज्ञ का फल प्राप्त होता है तथा किसी अन्य के हाथ से गायको खरीदकर उसका पालन करन से गोपालक को गोमेधयज्ञका ही फल प्राप्त होता है। गौओ की शीत  तथा धूप से रक्षा करनेपर स्वर्ग की प्राप्ति … Read More

Continue Reading

गौरक्षा हेतु हनुमान जी से विनती..

गौरक्षा हेतु हनुमान जी से विनती… हे हनुमान छुपेँ केहि कारन । सुरभी संकट करहुँ निबारन ॥ भीर परि गैया अति रोवे । तड़पत रहत प्रान निज खोवे ॥ पाद बाँधि गल छुरि चलावे । डारि उष्नजल चर्म खिँचावे ॥ दयानिधि साधु रखवारो । अबहुँ मौन केहि कारन धारो ॥ लंक उजारि धेनु सुध लीन्हो । निज प्रभु काज पवनसुन कीन्हो ॥ बजि चुटकी सब काम सुधारा । दुखी धेनु सो नगर उजारा ॥ कहि तुलसी चहुँ जुग रखवारे। बिसरि सुभाउ धेनु पिआरे ॥ सुन लीजो प्रभु बिनती हमारी । दुखी धेनु अब हाय पुकारी ॥ दो॰- तुम संकर गिरिजापति बिस्वनाथ बृषकेतु । गुपतरूप बानर बने प्रीत रीत बनि सेतु… Read More

Continue Reading

There is no beef in the VEDAS but LOVE

LET NOT MEAT-EATERS TEACH US WHAT SANATANA DHARMA IS ALL ABOUT NOR TRY TO EXPLAIN THE VEDAS. ONLY REVERENCE AND INTENSE LOVE FOR THE SACRED COWS ARE FOUND IN THE VEDAS AND NOT BEEF. VEDIC PRINCIPLES ARE ACCEPTED AS AXIOMATIC TRUTH AND NO WHERE IN THE VEDAS IT SAYS YOU CAN KILL A COW.  https://www.youtube.com/watch?v=mY8lQCz7yO0 – ONLY REVERENCE AND INTENSE LOVE FOR THE COWS ARE FOUND IN THE VEDAS. http://www.youtube.com/watch?v=ecCPLt5rE58 – Myth of Holy Cow and Beef in Hinduism  http://www.youtube.com/watch?v=rNtd4w16vhA – Radhanath Swami at Govardhan Eco Village’s Goshala https://www.youtube.com/watch?v=-gAuPwsMDxY#t=119 – With Respect for Ganda and the ISCOWP Herd http://www.youtube.com/watch?v=-kBSrQgI8Ig – World Biggest Gaushala  http://www.youtube.com/watch?v=-cQzcqRNIn8 – DELHI BIGGEST GAUSHALA  http://www.youtube.com/watch?v=JQf266eVLW8 – Godham Pathmeda Rajasthan गोधाम पथमेड़ा राजस्थान World… Read More

Continue Reading

The Indian Cow: Almost Extinct

India is the world’s largest producer of milk. But in 10 years, we will be forced to start importing it. And the Indian cow will no longer exist.Tehelka, 24 January, 2013 MILK IN INDIA, is not just a drink, it is an elixir. For almost every Indian — rich or poor — the idea of a daily glass of milk holds a potent and emotional charge. It speaks of parental devotion, well-being and health. This faith in the power of milk is well-grounded: it is the primary nutrient for the young and the old. Nearly 63 percent of animal protein in the Indian diet comes from dairy products. For vegetarians,… Read More

Continue Reading

A2 milk produced by humped India cow is good for health , while A1 milk produced by the humpless western cow is toxic for health.

NUTRITIOUS A2 MILK OF VEDIC COWS WITH HUMP VERSUS TOXIC A1 MILK OF HUMPLESS WESTERN COWS  A1 MILK TOXIC CASEIN PROTEIN BETA CASOMORPHINE 7,   HARMFUL PEPTIDE  BCM7 OF A1 MILK,  SURYAKETU NADI OF VEDIC COW  ,  FRAGRANT SMELLING INDIAN HUMPED COW WITH SEBUM GLANDS,   AMINO ACID 67  CAT HISTIDINE  IN  A1 MILK  VERSUS  CCT PROLINE  IN A2 MILK,  CALCIUM MAGNESIUM RATIO  IN HARMFUL  A1  MILK,  AGNIHOTRA GHEE AND GOMUTRA FROM HUMPED COW –  CAPT AJIT VADAKAYIL First things first. A2 milk produced by humped India cow is good for health , while A1 milk produced by the humpless western cow is toxic for health. For long the white man ridiculed the… Read More

Continue Reading

Cow & Scriptures

Cow and Scriptures Cows are the path to heaven, they are worshipable even in heaven. Cows grant a desirable objects, therefore there is nothing superior to the cows ***** Oh Bharata, a person devoted to cows attains whatever he desires. Women also who aredevoted to cows get their wish fulfilled. A person desiring son gets a son, one desiringdaughter gets daughter, one desiring wealth gets wealth, one desiring religion attains religion, a student gets education and one desiring happiness gets happiness. There is nothing unachievable for a servant of cow. ***** The Brahma Vidya, which grants supreme bliss is compared to the Sun. Similarly the firmament, can be compared with… Read More

Continue Reading

आध्यात्मिक उन्नति का आधार है- गऊ सेवा

वेदों में गाय का महत्व अतुलनीय व श्रेष्ठतम है। गाय रुद्रों की माता, वसओं की पुत्री, अदिति पुत्रों की बहन तथा अमृत का खजाना है। अथर्ववेद के 21वें सूक्त को गौ सूक्त कहा जाता है। इस सूक्त के ऋषि ब्रह्मा तथा देवता गऊ है। गायें हमारी भौतिक व आध्यात्मिक उन्नति के प्रधान साधन है। मनुष्य को धन–बल–अन्न व यश पाने के लिए गऊ सूक्त का रोज़ पाठ करना चाहिए। आरोग्य व पराक्रम पाने के गाय के दूध, मक्खन व घी का सेवन करने से पूर्व इस सूक्त का पाठ मात्र करने से सर्वारिष्ट शांत होते है। माता रुद्राणां दुहिता वसूनां स्वसादित्यनाममृत्सय नाभिः। प्र न वोचं चिकितुषे जनाय मा गामनागामदितिं वधिष्ठा… Read More

Continue Reading

गौमाता ——- धार्मिक महत्त्व

हमारी संस्कृति के अनुसार गाय और मंदिरों का एक दूसरे से मज़बूत रिश्ता है, धार्मिक अनुष्ठानों में गाय की अपनी एक महत्त्वपूर्ण भूमिका है। गाय को दैविक माना गया है, तथा हिन्दू संस्कृति के अनुसार दिन की शुरुआत गाय की पूजा से शुरू होती है। गाय को खिलाना और उसकी पूजा करना दैविक अनुष्ठान है । पारिवारिक उत्सवों तथा त्योहारों में गाय की प्रधानता है, ऐसे अनेक त्योहार है, जहाँ गाय अपना एक प्रमुख स्थान रखती है। अनेक मंदिरों के प्रवेशद्वार पर गाय का छप्पर होता है जिससे मनुष्य में पवित्रता की भावना बढ़ती है। हिंदुओं के हर धार्मिक कार्यों में सर्वप्रथम पूज्य गणेश उनकी माता पार्वती को गाय के… Read More

Continue Reading