पंचगव्य एवं ग्रामीण अर्थव्यवस्था

पंचगव्य एवं ग्रामीण अर्थव्यवस्था   हमारे देश की 70 प्रतिशत से ज्यादा जनता ग्रामीण क्षेत्र में रहती है। प्रचीन काल से ही हमारे गाँव आर्थिक, सामाजिक एवं व्यावसायिक तौर से आत्मनिर्भर थे। परंतु आजकल नजारा बदल गया है। बड़े-बड़े कारखाने खड़े कर दिए गए है। गाँवों को कच्चा माल देने वाला एक माध्यम बना लिया है। गाँव के अंदर जो अनेक कारीगर थे बढ़ई, लुहार, राजमिस्त्री, उन सब लोगों की रोजी-रोटी छिन गई। गाँव के लोग बेकार हो गए हैं और शहर की तरफ दौड़ने के अलावा उनके पास और कोई चारा भी नहीं है। शहर में भी कोई काम न मिलने के कारण वे अनेक गैरकानूनी कामों में लिप्त… Read More

Continue Reading

Flexibility of Desi Milk

Flexibility of Desi Milk Desi cow milk can be used to make high quality desi products; desi ghee, dahi, shreekhand, chaach, chhena, malai and khoa. Sweets made of organic desi milk products have nutritional value. Some of the Benefits of Desi Cow Milk and its different products are: As per Ayurvedic treatment, Cow Ghee helps in the growth and development of Children’s brain Regular consumption increases good (HDL) cholesterol (and not bad LDL cholestrol) Stimulates digestion and aids absorption of fat soluble vitamins An excellent all round anti-ageing vegetarian food & external applicant on the skin The components in Desi Cow milk are so flexible and rich in Vitamins that simply drinking milk can easily compensate nutritional component of a… Read More

Continue Reading

गाय दूध से जुड़े मिथक और सच्चाई!

गाय दूध से जुड़े मिथक और सच्चाई! मिथक- पाश्च्युराइज्ड की अपेक्षा कच्चे दूध में ज्यादा पोषक तत्व होते हैं। सच्चाई – पाश्च्युराइज्ड और कच्चे दूध में पोषक पदार्थो का स्तर समान होता है। पाश्च्युरीकरण की प्रक्रिया में दूध को कम समय के लिए उच्च तापमान (70 डिग्री सेल्सियस) पर गर्म किया जाता है जिससे दूध में मौजूद जीवाणु मर जाते है। दूसरे शब्दों में कहें तो पाश्च्युराइज्ड दूध से किसी भी तरह के संक्रमण का खतरा नहीं होता।  मिथक- दूध में पानी मिलाने से उसमें से वसा तत्व कम हो जाता है। सच्चाई- दूध में पानी मिलाने से उसमें मौजूद सभी पोषक पदार्थो की सांद्रता कम हो जाती है। दूसरे… Read More

Continue Reading

एड्स से बचाएगा गाय का दूध!

एड्स से बचाएगा गाय का दूध! गाय के दूध को बहुत पौष्टिक होता है. भारत में सदियों से इसके फायदों की बात की जाती रही है. यहां तो नवजात बच्चों को भी गाय का दूध पिलाया जाता है। अब पता चला है कि यह एचआईवी वायरस से भी निपट सकता है.गाय के दूध पर यह रिसर्च ऑस्ट्रेलिया में की गई है. रिसर्च के नतीजे आने के बाद कहा गया है कि गाय के दूध से एचआईवी वायरस पर असर करने वाली क्रीम या जेल बनाया जा सकता है. गाय के दूध में ऐंटीबॉडी यानी रोग प्रतिरक्षी होते हैं दरअसल गाय के दूध में ऐंटीबॉडी यानी रोग प्रतिरक्षी होते हैं. ये… Read More

Continue Reading

गाय के दूध पीने का यह फायदा नहीं जानते होंगे आप

वैसे तो दूध के फायदे किसी से नहीं छिपे हैं लेकिन गाय के दूध का एक फायदा आप अब तक नहीं जानते होंगे। हाल में ताइवान में हुए एक शोध में माना गया है कि गाय के दूध के नियमित सेवन से पेट के कैंसर की कोशिकाओं को बढ़ने से रोका जा सकता है। शोधकर्ताओं ने गाय के दूध में मौजूद लैक्टोफेरिसिन बी25 (लेफसिन बी25) की खोज की है जो गैस्ट्रिक कैंसर की कोशिकाओं को रोकने में मदद करती हैं। ‘दुनिया भर में, खासतौर पर एशियाई देशों में गैस्ट्रिक कैंसर से मरने वाले रोगियों की संख्या बढ़ती जा रही है। इस दिशा में हमारी यह खोज एक बड़ी उपलब्धि है।”… Read More

Continue Reading